Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

फसलें खराब पर किसानों की खरीदारी से बाजार में तेजी, 127 Tractors बिके, पिछले साल 39 बिके थे

Tractor की बिक्री के मामले में इस बार धनतेरस उम्मीद से कहीं अधिक बेहतर रही। अतिवृष्टि के कारण फसलें खराब होने के बाद भी धनतेरस का बाजार किसानों द्वारा की गई खरीदारी बाजार चमक गया। पिछले साल जहां अच्छी पैदावार होने के बाद भी धनतेरस पर मात्र 39 Tractor बिके थे वहीं इस वर्ष 127 ट्रैक्टरों की डिलेवरी शाम तक हो चुकी थी। इसके साथ ही सराफा, Automobile, utensils, electronics, electricals and mobiles fiercely की जमकर खरीदी की गई। 

Automobile सेक्टर से अधिक इस बार ट्रैक्टर बाजार गुलजार रहा। अगर औसत एक Tractor की कीमत  ओसतन 6 लाख आंकी जाए तो शाम तक 7 करोड़ 62 लाख के ट्रैक्टर की बिके। Bike, Car, Automobile सेक्टर में भी दिन बार वाहनों की बिक्री होती रही। वहीं पिछले साल सभी सेक्टरों को मिलाकर धनतेरस पर बाजार करीब 8 करोड़ रुपए का हुआ था। इस बार Merchants से हुई वार्तालाप के बाद पता चला कि, करीब 12 करोड़ से अधिक का व्यापार धनतेरस पर हुआ है। 

Gold और Silver के भावों में तेजी के बाद भी शुभ मुहूर्त की खरीदी से बाजार में अच्छी रही ग्राहकी 

दाेपहर से शुरू हुई खरीदारी, देर तक चली 

Market में ग्राहकों को लुभाने के लिए दुकानदारों ने दुकानों के 10 फीट आगे तक दुकानों को सजाया। दोपहर बाद ग्राहकी का दौर शुरू हुआ जो देर रात तक चलता रहा। सराफा, Electronics, कपड़ा, बर्तन Market में भले ही दिन भर इक्का-दुक्का ग्राहक रहे लेकिन शाम होते ही दुकानों पर भीड़भाड़ बढ़ गई। शाम तक लोग अपनी जरूरतों के अनुसार खरीदारी करते रहे। शाम को Market में ग्राहकी बढ़ते ही दुकानदारों के चेहरे खिल गए। 

सराफा और अन्य सेक्टर में दाे कराेड़ का हुआ काराेबार, एक करोड़ का रहा Mobile बाजार 

बर्तन, कपड़ा, सराफा और Electronics, फर्नीचर, साजसज्जा की दुकानों पर शहर में करीब 2 करोड़ का व्यवसाय हुआ। इसमें Electronics और Mobile बाजार में फायनेंस सुविधा होने की वजह से एक करोड़ का व्यापार हुआ। 

शाम तक 23 Cars बिकींं 

4 पहिया वाहनों में फायनेंस सुविधा होने से शहर में इस वर्ष कारों के सभी शोरूमों पर शाम तक 23 वाहनों की बिक्री हो चुकी थी। इन वाहनों में कई वाहन 5 से 10 लाख रुपए के हैं।

उम्मीदों पर नहीं खरा रहा सराफा-Electronics बाजार 

दिन भर सराफा बाजार में इक्का दुक्का ग्राहकी रही। शाम होते ही  Market में ग्राहकी बड़ गई। लोग चांदी के सिक्कों के साथ जरूरत का सामान खरीदते हुए नजर आए। Electronics बाजार में एलईडी, वॉशिंग मशीन की बिक्री अधिक रही। सगुन करने के लिए बर्तन दुकानों पर अच्छी खासी भीड़ रही। 

300 दोपहिया वाहनों की हुई बिक्री 

सबसे बड़ा बाजार दोपहिया वाहनों का रहा। शहर के विभिन्न शोरूमों पर शाम 6 बजे तक 300 वाहनों की बिक्री हो चुकी थी। पुराने वाहनों को कटाकर नए वाहन खरीदने वाले ग्राहकों की संख्या अधिक रही। अगर एक मोटरसाइकिल की अनुमानित कीमत 50 हजार मानी जाए तो शहर अकेले में ही 1 करोड़ 50 लाख रुपए कीमत के दुपहिया वाहन बिके। 

Post a Comment

0 Comments