Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

Budget 2020-21 का पूरा बजट जानिए, इस बजट के दौरान क्या हुआ महंगा क्या हुआ सस्ता

Budget 2020 में किसे क्या मिला, जानिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की 10 बड़ी घोषणाएं
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में इस साल का आम बजट पेश कर रही हैं। उन्होंने एक कश्मीरी कविता के जरिए बजट भाषण की शुरुआत की, जिसका हिंदी अनुवाद इस प्रकार है- हमारा वतन खिलते हुए शालीमार जैसा, डल झील में खिलते हुए कमल जैसा, नौजवानों के गरम खून जैसा, मेरा वतन, तेरा वतन, हमारा वतन, दुनिया का सबसे प्यारा वतन...

Budget 2020 में किसे क्या मिला, जानिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की 10 बड़ी घोषणाएं
Budget 2020 में किसे क्या मिला, जानिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की 10 बड़ी घोषणाएं

पूरा नहीं पढ़ने के बावजूद सीतारमण ने दिया सबसे लंबा बजट भाषण, तोड़ा अपना रिकॉर्ड
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष 2020-21 का बजट पेश करते हुए करीब 2 घंटे 41 मिनट का भाषण देकर अभी तक के सबसे बड़े बजट भाषण का अपना ही रिकॉर्ड तोड़ा। गौरतलब है, सीतारमण ने दो पृष्ठ बाकी रहते अपना भाषण रोक दिया था। पिछले साल सीतारमण ने 2 घंटे 17 मिनट लंबा भाषण दिया था।

वित्त वर्ष 2020-21 के लिए राजकोषीय घाटे का लक्ष्य 3.5% रखा गया
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2020-21 पेश करते हुए बताया कि 2019-20 के दौरान राजकोषीय घाटा 3.8% रहने का अनुमान है जबकि इसे 3.3% तक सीमित करने का लक्ष्य था। वहीं, 2020-21 के लिए राजकोषीय घाटे को जीडीपी के 3.5% तक सीमित करने का लक्ष्य रखा गया है। बकौल सीतारमण, जीडीपी की वृद्धि दर 10% रहने की उम्मीद है।


बजट पेश होने के बाद 700 अंक से अधिक टूटा सेंसेक्स; निफ्टी 11,750 से नीचे
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा बजट पेश करने के बाद दोपहर को बीएसई का सेंसेक्स 700 अंक से अधिक टूटकर 39,930 पर आ गया। वहीं, एनएसई का निफ्टी भी गिरकर 11,750 से नीचे आ गया। गौरतलब है कि बजट में लाभांश देने वाली कंपनी से लाभांश वितरण कर ना लेकर लाभांश पाने वालों से टैक्स लेने का प्रस्ताव है।

2020-21 में एससी के लिए ₹85,000 करोड़ और एसटी के लिए ₹53,700 करोड़ का आवंटन
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को लोकसभा में आम बजट पेश करते हुए वित्त वर्ष 2020-21 में अनुसूचित जाति (एससी) और अन्य पिछड़ा वर्गों के लिए ₹85,000 करोड़ का आवंटन किया। वहीं, अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए ₹53,700 करोड़ आवंटित किए गए हैं। गौरतलब है, बजट में बुज़ुर्गों और विकलांगों के लिए ₹9,500 करोड़ की घोषणा की गई है।


सरकार एलआईसी में घटाएगी हिस्सेदारी, करती है ₹30926 अरब के असेट्स का प्रबंधन
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को बजट 2020-21 पेश करते हुए बताया कि सरकार देश की सबसे बड़ी जीवन बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) का आईपीओ लाकर इसमें अपनी हिस्सेदारी घटाएगी। 1956 में स्थापित की गई एलआईसी अभी ₹30,926 अरब मूल्य के असेट्स का प्रबंधन करती हैं। अभी एलआईसी की 100% हिस्सेदारी सरकार के पास है।

गैर-राजपत्रित नौकरियों की भर्ती में होंगे बड़े सुधार, बनाएंगे नैशनल एजेंसी: सीतारमण
लोकसभा में केंद्रीय बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को बताया कि केंद्र सरकार और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में गैर-राजपत्रित नौकरियों के लिए भर्ती में बड़े सुधार किए जाएंगे। सीतारमण ने बताया कि नैशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी बनाई जाएगी जो इन पदों पर भर्ती के लिए ऑनलाइन पात्रता परीक्षा आयोजित करेगी।


बजट के बाद शेयर बाजार धड़ाम, निवेशकों के 4 लाख करोड़ रुपये डूबे
इस साल के बजट से निवेशकों को निराशा हाथ लगी है। इसका असर शेयर बाजार पर भी देखने को मिला। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बजट पेश करने के बाद शेयर बाजार में लगातार गिरावट दर्ज की गई। आज सेंसेक्स 987.96 अंक गिरकर 39,735.53 पर बंद हुआ। वहीं निफ्टी में भी 2.66 प्रतिशत यानी 318.30 अंक की गिरावट दर्ज की गई। एक्सपर्ट्स के मुताबिक शेयर बाजार में गिरावट से निवेशकों को 4 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। इस बजट के बाद लगातार गिर रहा शेयर बाजार, सेंसेक्स 1000 अंक नीचे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बजट पेश करने के बाद शेयर बाजार में लगातार गिरावट हो रही है। अब तक सेंसेक्स 1012.16 अंक लुढ़क कर 39,711.33 पर आ गया है। वहीं निफ्टी भी 400 अंक गिरकर 11,635 तक पहुंच गया है। बजट पेश होने से पहले भी शेयर बाजार में गिरावट देखी गई थी। हालांकि बीच में कुछ देर शेयर बाजार उछला लेकिन उसके बाद लगातार गिरता ही गया। एक्सपर्ट्स के मुताबिक निवेशकों को बजट से निराशा हाथ लगी है।

व्यक्तिगत आयकर दरों में राहत, ₹5-₹7.5 लाख की आय पर टैक्स 20% से घटाकर ​किया गया 10%
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने व्यक्तिगत आयकर में राहत देते हुए ₹5-₹7.5 लाख की आय पर टैक्स दर 20% से घटाकर 10% करने की घोषणा की है। वहीं, ₹7.5-₹10 लाख की आय पर टैक्स 20% से घटाकर 15%, ₹10-₹12.5 लाख पर 30% से घटाकर 20% और ₹12.5-₹15 लाख पर 30% से घटाकर 25% किया है। हालांकि, यह व्यवस्था वैकल्पिक होगी।


भारत में पांच नई स्मार्ट सिटी की जाएंगी विकसित: बजट में वित्त मंत्री
बजट 2020-21 पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि देश में पांच नई स्मार्ट सिटी विकसित की जाएंगी। ये​ सिटी राज्यों के साथ निजी भागीदारी मॉडल पर विकसित की जाएंगी। उन्होंने कहा कि भारत में घरेलू मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने की ज़रूरत है और इसके साथ ही इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग में निवेश आकर्षित करने पर भी ध्यान रहेगा।

10% आर्थिक विकास दर हासिल करने का लक्ष्य: निर्मला सीतारमण
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज कहा कि हमारा लक्ष्य 10% आर्थिक विकास दर हासिल करने का है। इसके अलावा भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) को शेयर बाजार में सूचीबद्ध कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि सूक्ष्म एवं लुघ उद्योगों के भुगतान में देरी की समस्या और नकदी प्रवाह की समस्या से निपटने के लिये एप आधारित इनवॉयस वित्त पोषण ऋण उत्पाद भी पेश किया जाएगा।


बजट 2020: 5 लाख तक कमाई पर आयकर नहीं, जानें नए टैक्स स्लैब
0 से 5 लाख रुपये तक - कोई टैक्स नहीं 5 लाख से 7.5 लाख रुपये तक - 10 प्रतिशत 7.5 लाख से 10 लाख रुपये तक - 15 प्रतिशत 10 से 12.5 लाख रुपये तक - 20 प्रतिशत 12.5 से 15 लाख रुपये तक - 25 प्रतिशत 15 लाख रुपये से ऊपर - 30 प्रतिशत

इन्फास्ट्रक्चर पर अगले पांच साल में 100 लाख करोड़ का निवेश होगा: सीतारमण
सरकार ने इस बार के बजट में बुनियादी संरचना पर खासा जोर दिया है। निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए कहा, 'पीएम मोदी कह चुके हैं कि इन्फास्ट्रक्चर पर अगले पांच साल में 100 लाख करोड़ रुपये का निवेश होगा। हाउसिंग, स्वच्छ पानी, हेल्थकेयर, शिक्षण संस्थान, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, वेयरहाउसिंग, सिंचाई जैसे क्षेत्रों में निवेश होगा।'


बजट में रेलवे के लिए वित्त मंत्री की ये बड़ी घोषणाएं
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम बजट पेश करते हुए रेलवे के लिए कई घोषणाएं की। उन्होंने अपने भाषण में कहा कि तेजस एक्सप्रेस जैसी सेमी हाई-स्पीड ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जाएंगी और पर्यटन स्थलों को जोड़ा जाएगा। 27 हजार किमी ट्रैक का इलेक्ट्रिफिकेशन किया जाएगा। रेलवे की खाली जमीनों पर सोलर प्लांट लगेंगे। ज्यादा स्टेशनों पर वाईफाई लगाए जाएंगे। मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट को गति मिलेगी।

2022 तक 100 नए एयरपोर्ट बनेंगे, हर जिले में खुलेगा मेडिकल कॉलेज
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में बड़ा एलान करते हुए कहा कि 2022 तक सरकार 100 नए एयरपोर्ट, हर जिले में मेडिकल कॉलेज खोलेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मानव रहित रेल फाटकों को खत्म कर दिया गया है। 27,000 किमी लंबी रेल लाइन का इलेक्ट्रिफिकेशन किया जाएगा। मुंबई से अहमदाबाद के बीच हाई स्पीड रेल के कार्य में तेजी लाई जाएगी।




Post a Comment

0 Comments