Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

अशोकनगर (Ashoknagar) जिले की पहली कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) महिला निकली ईसागढ़ (Isagarh) में, भोपाल ( Bhopal) में हुई मौत

अशोकनगर (Ashoknagar) जिले की पहली कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) महिला निकली ईसागढ़ (Isagarh) में, भोपाल ( Bhopal) में हुई मौत
Isagarh Corona news, ईसागढ़ से एक महिला कोरोना Corona पॉजिटिव भोपाल Bhopal हुआ टेस्ट

  • अशोकनगर में भी खतरा, 4 दिन जिला अस्पताल में रखकर किया था भोपाल रेफर
  • मृतक महिला के पति को हमीदिया अस्पताल भोपाल में किया है भर्ती

अशोकनगर.(Ashoknagar) जिले में कोरोना संक्रमण का पहला मामला सोमवार को सामने आया। ईसागढ़ (Isagarh) के बस स्टैंड के पास किराए के एक मकान में रहने वाली महिला की भोपाल में मौत के बाद उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव निकली है। प्रशासन ने ईसागढ़ को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित कर वहां की पारस गली और सदर बाजार को हॉट स्पॉट घोषित कर दिया है। महिला के जिले में कोरोना संक्रमित पाए जाने का ये पहला मामला है। जिला प्रशासन ने पूरे शहर में कर्फ्यू लगा दिया। संक्रमित युवक के घर के तीन किलोमीटर के क्षेत्र को निषेध घोषित कर दिया है

शहर को बफर जोन बना दिया है।
स्वास्थ्य विभाग के डीपीएम दीपक सिसौदिया ने बताया कि बरोदिया निवासी और हाल निवासी पुराना बस स्टैंड की 45 साल की महिला की मौत भोपाल में हुई है। महिला की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट के बाद जिले में हड़कंप मच गया। महिला के परिजनों को खोजने प्रशासन की टीम बरोदिया पहुंची जहां से ईसागढ़ रहने की जानकारी मिली। ईसागढ़ में महिला जिस क्षेत्र में किराए के मकान में रहती थी उसके आसपास के एरिया को सील कर दो दिन के लिए कर्फ्यू लगा दिया है।
कलेक्टर डाॅ शर्मा ने नया आदेश जारी किया है इसमें डेयरी मेडिकल व सब्जी दुकानें अपने निर्धारित समय में ही खुलेंगी बाकी सब बंद रहेगा। एसडीएम सुरेश जाधव ने बताया कि जिला अस्पताल का 200 मीटर तक कर ऐरिया सील कर दिया है। इस सीमा में डॉक्टर स्टाफ ,मरीज व एंबुलेंस ही जा सकेंगी। इसके अलावा ईसागढ़ में विशेष अलर्ट है।


चार दिन रही अशोकनगर में संक्रमण फैलने की आशंका
ईसागढ़ से अधिक खतरा जिला मुख्यालय पर हो गया है। मृत महिला अशोकनगर में 4 दिन तक भर्ती रही। 24 अप्रैल को महिला की तबीयत में सुधार नहीं होने पर भोपाल रेफर किया गया। 25 अप्रैल को महिला का सैम्पल लिया गया। 26 अप्रैल को उसकी मौत हो गई। 27 अप्रैल सोमवार को जब भोपाल में मृत महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव निकली तो चारों तरफ हड़कंप मच गया। उल्लेखनीय है कि 4 दिन तक महिला का जिला अस्पताल के महिला वार्ड में इलाज चला, ऐसे में संक्रमण फैलने की सबसे अधिक आशंका जिला अस्पताल में बनी है। क्योंकि चार दिन तक संक्रमित महिला और उसके परिजन जिला अस्पताल में ही रहे। ऐसे में अब उस दौरान वे जिनके भी संपर्क में आए, उन सभी क तलाश की जा रही है।
आनंदपुर ट्रस्ट के रामनगर चक्क पर पति और भाई करता था काम
जो महिला कोरोना पॉजिटिव निकली है उसका पति आनंदपुर ट्रस्ट के रामनगर चक्क पर काम करता था। ऐसे में महिला बगैर घर से निकले कोरोना संक्रमित कैसे हुई उसकी हिस्ट्री तलाशी जा रही है। महिला के पति को भोपाल के हमीदिया अस्पताल में भर्ती किया गया है।


ईसागढ़ में दो दिन किराना दुकानों से डिलीवरी होगी, जिस क्षेत्र में महिला रहती है वहां की जाएगी सैंपलिंग
1.मेडिकल की सिर्फ एक ही दुकान सरकारी अस्पताल के सामने निखिल मेडिकल खुलेगी।
2.लॉकडाउन में दो दिन किराना दुकानों को होम डिलेवरी के लिए अधिकृत किया है, वहां से प्रशासन के वॉलेंटियर ही सामग्री घर तक पहुंचाएंगे।
3.मंगलवार को सबसे पहले मृत महिला जहां रहती थी उस क्षेत्र के लक्षण देखकर लोगों की सैंपलिंग की जाएगी।
4.रामनगर चक्क पर महिला का पति करता था चौकीदारी, वहां अन्य 22 कर्मचारियों सहित चक्क के महात्मा की मंगलवार को होगी सैम्पलिंग।

फिलहाल स्टाफ को किया जा रहा क्वारेंटाइन
जिला अस्पताल में ड्यूटी पर रहीं नर्स, वार्डबाय, महिला को ले जाने वाले वाहन के क्लीनर, ड्राइवर को भी क्वारेंटाइन किया गया है।
इन डॉक्टरों ने किया इलाज
ईसागढ़ में बीएमओ डॉ. विपिन सिंह, डाॅ. मनीष सिंह ने महिला का इलाज किया था जो जिला अस्पताल में डाॅ. संदीप भल्ला, डाॅ. मनीष चौरसिया द्वारा इलाज करने की जानकारी सामने आई है।

महिला की ट्रेवल हिस्ट्री कुछ भी नहीं है। यहां पर लक्षण नहीं दिखने पर सैम्पल भी नहीं लिए थे। भोपाल से जानकारी लगते ही ईसागढ़ को पूरा लॉकडाउन कर दिया। महिला का पति भोपाल में भर्ती है, लेकिन अभी हमारे पास जानकारी नहीं है कि वह पॉजिटिव है या नहीं। जो आदेश सोमवार की दोपहर को कुछ और दुकानें खोलने के जारी किए गए थे उनको स्थगित कर दिया है।
डाॅ. मंजू शर्मा, कलेक्टर अशोकनगर।


कई दिनों से बीमार थी महिला
कोरोना से मृत महिला की पड़ोसी ने बताया कि शांति कुछ दिनों से बीमार चल रही थी। 20 अप्रैल को उल्टी दस्त की शिकायत होने पर उसको ईसागढ़ अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां दो घंटे तक इलाज के बाद उसको जिला अस्पताल रेफर किया गया।
मेडिकल स्टोर के साथ पेट्रोल पंप तक किया बंद
ईसागढ़ में दो दिन मेडिकल और पेट्रोलपंप बंद रहेंगे। इसके अलावा मृत महिला जिस मोहल्ले में रहती थी वहां पूरे क्षेत्र को सैनिटाइज किया जा रहा है। रात में ही दोनों गलियों को सील कर दिया है। महिला के संपर्क में आए लोगों की हिस्ट्री निकाली जा रही है, खबर लिखे जाने तक प्रशासन और डॉक्टरों की टीम मृत महिला का पति जिस रामनगर चक्क पर काम करता था वहां के लिए रवाना हो चुकी थी।

डॉक्टर बोले, लक्षण एक भी नहीं था महिला को कोविड
19 का- सिविल सर्जन डाॅ. हिमांशु शर्मा ने बताया कि महिला को जब जिला अस्पताल में भर्ती कराने से रेफर करने तक कोई भी लक्षण कोरोना का नहीं दिखाई दिया। इसलिए उसका कोरोना टेस्ट भी इलाज कर रहे डॉक्टरों ने करना उचित नहीं समझा। दस्त लगने के बाद स्थिति में सुधार नहीं हुआ इसलिए उसको भोपाल रेफर किया गया।

अशोकनगर (Ashoknagar) गुना (Guna) जिले के ईसागढ़ (Isagarh) से एक महिला कोरोना (Corona) की शिकार हुई, 3 दिन पहले जिला चिकित्सालय से भोपाल रेफर की गई, जांच की पुष्टि होने के बाद उसे कोरोना पॉजिटिव बताया गया है, साथ ही उसकी मृत्यु भी हो गई है। खबर फैलने के बाद प्रशासनिक और आमला एवं स्वास्थ्य विभाग के लोग ईसागढ़ उस महिला के घर पहुंचे हैं। आपको बता दें महिला का सैंपल भोपाल में ही लिया गया था।
सीएमएचओ डॉ जे आर त्रिवेदीया ने बताया कि 3 दिन पहले ही सागर में रहने वाली महिला शांति बाई को उपचार के लिए ईसागढ़ स्वास्थ्य केंद्र से जिला अस्पताल भेजा गया था यहां से उसे भोपाल रेफर किया गया था उपचार के दौरान कोरोना की पुष्टि होने पर उनका सैंपल लिया गया था, आपको बता दें महिला की मृत्यु हो गई है। भोपाल (Bhopal) से महिला का शव ईसागढ़ नहीं लाने दिया गया है। फिलहाल ईसागढ़ में स्वास्थ्य टीम के पहुंचने के बाद जिस इलाके में महिला का घर है उसी इलाके को संपूर्ण तरीके से सैनिटाइज किया गया है। आपको बता दें महिला के संपर्क में आने वाले हर एक व्यक्ति को स्वास्थ्य टीम कोविड-19 का टेस्ट करेगी।


Post a Comment

0 Comments