Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

चाणक्य के अनमोल विचार 2021, chanakya ke Anmol vichar, chanakya niti, चाणक्य नीति

Chanakya ke Anmol Vichar
चाणक्य नीति: जो समय बीत गया, उसे याद कर पछताना बेकार है
✍ जिस स्थान पर धनी व्यक्ति रहता है, वहां व्यवसाय की स्थिति अच्छी होती है
✍ जल ही जीवन है, इसके बिना हम अपने कोई कार्य नहीं कर सकते हैं
✍ जो ठग और धूर्त होता है, वह आवश्यकता से अधिक मीठा बोलता है
✍ दुनिया में सभी विश्वास के योग्य नहीं होते हैं, हर किसी से निश्चित दूरी बनाकर चलें
चाणक्य के अनमोल विचार 2021, chanakya ke Anmol vichar, chanakya niti, चाणक्य नीति
chanakya ke Anmol vichar, chanakya niti


आचार्य चाणक्य के अनमोल विचार: लोहे को लोहे से ही काटना चाहिए
✍ सांप को दूध पिलाने से विष ही बढ़ता है, न की अमृत
✍ आपातकाल में स्नेह करने वाला व्यक्ति ही मित्र होता है
✍ कल के मोर से आज का कबूतर भला अर्थात संतोष सब से बड़ा धन है
✍ चंचल चित वाले के कार्य कभी समाप्त नहीं होते, पहले निश्चय करिए, फिर कार्य आरम्भ करिए
✍ आग में घी नहीं डालनी चाहिए अर्थात क्रोधी व्यक्ति को अधिक क्रोध नहीं दिलाना चाहिए

चाणक्य के अनमोल विचार: शास्त्र का ज्ञान आलसी को नहीं हो सकता
✍ ईमानदारी से काम करने वाले लोग सदैव खुश रहते हैं
✍ जब कार्यों की अधिकता हो, तब उस कार्य को पहले करें, जिससे अधिक फल प्राप्त होता है
✍ कार्य के लक्षण पहले ही सफलता-असफलता के संकेत दे देते हैं
✍ अज्ञानी के लिए किताबें और अंधे के लिए दर्पण एक समान उपयोगी है
✍ विश्वास की रक्षा प्राण से भी अधिक करनी चाहिए

चाणक्य नीति: ये होते हैं व्यक्ति के सबसे अच्छे दोस्त, मरने तक देते हैं साथ
✍ चाणक्य के मुताबिक पत्नी पति के लिए सबसे अच्छी मित्र होती है, पत्नी अच्छी हो तो व्यक्ति और उसके परिवार को समाज में मान-सम्मान प्राप्त होता है।
✍ दवा को चाणक्य ने दूसरा अच्छा मित्र बताया है, वो कहते हैं कि बीमारी के दौरान दवा ही साथ देती है।
✍ चाणक्य ने धर्म को मनुष्य का सबसे बड़ा मित्र बताया है, मनुष्य जब तक जीवित रहता है, वो दान-पुण्य करता रहता है।
☛ ज्ञान जहां से भी मिले ले लो, क्योंकि ज्ञान जितना लेंगे उतना ही कम है।
☛ जीवन में हमेशा एक दूसरे को समझने का प्रयत्न करें, परखने का नहीं।
☛ उनके सामने बड़े मत बनो, जिन्होंने तुम्हें बड़ा किया है।
☛ सफल होने के लिए व्यवहार में बच्चा, काम में जवान और अनुभव में वृद्ध होना जरूरी है।

चाणक्य के विचार: मनुष्य स्वयं ही अपने कर्मों से जीवन मे दुख को बुलाता है
✍ मूर्ख लोगों से वाद-विवाद नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से हम अपना ही समय नष्ट करते हैं
✍ डर को नजदीक न आने दो अगर यह नजदीक आ जाए तो इस पर हमला कर दो
✍ भगवान मूर्तियों मे नहीं बसता बल्कि आपकी अनुभूति ही आपका ईश्वर है और आत्मा आपका मंदिर
✍ कोई भी शिक्षक कभी साधारण नहीं होता प्रलय और निर्माण उसकी गोद मे पलते हैं

चाणक्य के अनमोल विचार: जो मेहनती है वो कभी गरीब नहीं हो सकता है
✍ भाग्य भी उसी का साथ देता है जो कठिन परिस्थितियों में भी अपने लक्ष्य के प्रति अडिग रहते हैं
✍ अच्छे आचरण से दुखों से मुक्ति मिलती है, विवेक से अज्ञानता को मिटाया जा सकता है
✍ संकट के समय हमेशा बुद्धि की ही परीक्षा होती है
✍ अन्न के अलावा किसी भी धन का कोई मोल नहीं है
✍ विद्या ही निर्धन का धन होता है और यह ऐसा धन है जिसे कभी चुराया नहीं जा सकता है

Post a Comment

0 Comments