Top 7 Indian Fearless Women Bikers

0

MOTOR CYCLING

 मोटरसाइकिल की सवारी सिर्फ पुरुष ही नहीं करते हैं। भारतीय सड़कों पर एक महिला बाइकर को देखना आम बात नहीं है, लेकिन मोटरसाइकिल चलाने वाली महिलाओं की संख्या बढ़ रही हैं। आज हम भारत की निर्भीक महिला बाइकर्स के बारे में बताने जा रहे हैं।


रोशनी शर्मा

रोशनी 16 साल की उम्र से मोटरसाइकिल की सवारी कर रही हैं। वह कन्याकुमारी से कश्मीर तक अकेले सवारी करने वाली पहली भारतीय महिला राइडर हैं। उन्होंने 26 साल की उम्र में 11 राज्यों को कवर किया था। रोशनी को लगता है कि उन्होंने उन सभी के लिए एक मिसाल कायम की है, जिन्हें लगता है कि भारत में अकेले यात्रा करते समय महिलाएं सुरक्षित नहीं रहती हैं।

कैंडिडा लुईस
कैंडिडा लुईस ने बैंगलोर से सिडनी, ऑस्ट्रेलिया तक का सफर बाइक पर तय किया था। कैंडिडा ने 10 देशों --- भारत, भूटान, म्यांमार, थाईलैंड, लाओस, वियतनाम, थाईलैंड, मलेशिया, सिंगापुर, इंडोनेशिया से गुजरते हुए 29,200 किलोमीटर की दूरी तय की थी। बाली से उन्होंने शिप के जरिए अपनी बाइक पर्थ भेज दी थी और फिर वहां से सिडनी के लिए रवाना हो गई थीं।

ऐश्वर्या पिस्सी
ऐश्वर्या पिस्सी एक ऑफ-रोड रेसर हैं। उन्होंने 21 साल की उम्र में टीवीएस वन-मेक रेस चैम्पियनशिप से डेब्यू किया था। 24 साल की उम्र में ऐश्वर्या ने स्पेन में बाजा आरागन एफआईएम श्रृंखला जीती थी, जो कि एक अंतर्राष्ट्रीय मोटरसाइकिल इवेंट हैं। वह इस तरह की रेस जीतने वाली पहली भारतीय बनी थीं। वह 5 बार की नेशनल रोड रेसिंग एंड रैली चैंपियन हैं।

डॉ. सारिका मेहता
सारिका मेहता भारत की पहली महिला बाइकर हैं, जिन्होंने 10 देशों- भारत, म्यांमार, लाओस, नेपाल, भूटान, वियतनाम, कंबोडिया, थाईलैंड, मलेशिया और सिंगापुर में बाइक चलाई है। उन्होंने यह साबित करने के लिए बाइकिंग क्वींस लॉन्च किया कि महिलाएं कुछ भी कर सकती हैं। सारिका भारत सरकार की पहल 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' को प्रमोट करती हैं।

अनम हाशिम
अनम हाशिम 2017 में अंतर्राष्ट्रीय स्टंट प्रतियोगिता में भाग लेने और जीतने वाली एकमात्र भारतीय हैं। वह खारदुंग ला की सवारी करने वाली पहली महिलाओं में से एक हैं, जिन्होंने टीवीएस स्कूटी पर 2,150 किमी की दूरी तय की थी। उन्होंने सबसे कठिन रेसिंग इवेंट डेजर्ट स्टॉर्म को भी एक बार में पूरा कर लिया था।

अलीशा अब्दुल्ला
अलीशा अब्दुल्ला दो पहियों पर सबसे तेज भारतीय महिलाओं में से हैं और देश की पहली महिला राष्ट्रीय रेसिंग चैंपियन हैं। 13 साल की उम्र में उन्होंने एमआरएफ नेशनल गो-कार्टिंग चैम्पियनशिप और नेशनल लेवल फॉर्मेशन कार रेसिंग में बेस्ट नोविस अवार्ड जीता था। वह एक रेसर के रूप में प्रसिद्ध हैं, जो कार और बाइक रेसिंग दोनों में अच्छी तरह से प्रशिक्षित हैं।

डॉ. निहारिका यादव

डॉ. निहारिका यादव पेशे से डेंटिस्ट हैं और जुनून से बाइकर हैं। निहारिका के पास 'इंडियाज फास्टेस्ट लेडी सुपर बाइकर' का खिताब है, जो कि उन्हें 2015 के केटीएम ओपन ट्रेक में 97 मेल बाइकर्स के बीच में 20वां स्थान हासिल करने के लिए मिला था।
Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)