Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

गणतंत्र दिवस विशेष : देहरादून में छपा था भारत का संविधान

 भारत का संविधान संघर्ष और जज्बातों से बनाया गया है। दुनिया के सबसे बड़े लिखित संविधान को अमलीजामा पहनाने के बाद सबसे बड़ा काम था उसकी प्रतियां छापने का। इसकी जिम्मेदारी देहरादून स्थित सर्वे ऑफ इंडिया को दी गई, जिसे लगभग 5 सालों में पूरा किया गया। संविधान की पहली 1 हजार प्रतियां छापी गईं। पहली प्रति आज भी देहरादून में मौजूद है। हाथ से लिखी गई संविधान की मूल प्रति नई दिल्ली के नेशनल म्यूजियम में है।


LIVE: 72वां गणतंत्र दिवस परेड
आज देश 72वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। दिल्ली स्थित राजपथ पर परेड देखने पहुंचे लोगों के बीच मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का भी विशेष ध्यान रखा गया है। इस मौके पर आसमान से लेकर जमीन तक चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। इस साल पहली बार लड़ाकू विमान राफेल उड़ान भरेगा। इसके साथ ही 55 साल के इतिहास में पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में कोई विदेशी मुख्य अतिथि मौजूद नहीं होंगे।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी
PM नरेंद्र मोदी ने 72वें गणतंत्र दिवस के मौके पर देशवासियों को शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने ट्वीट किया- देशवासियों को गणतंत्र दिवस की ढेरों शुभकामनाएं। जय हिंद! वहीं, गृहमंत्री अमित शाह ने लिखा- 'गणतंत्र दिवस' भारत की बहुरंगी विविधता और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का प्रतीक है। मैं उन सभी महान विभूतियों का स्मरण करता हूं, जिनके संघर्ष से 1950 में आज के दिन हमारा संविधान लागू हुआ।


गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार राफेल शामिल, बिहार की भावना होंगी मौजूद
72वें गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार राजपथ पर लड़ाकू विमान राफेल जेट का प्रदर्शन होगा। सबसे बड़ी बात यह कि इसमें एक महिला फाइटर पायलट भावना कंठ शामिल होंगी। भावना कंठ बिहार के दरभंगा जिले की रहनेवाली है। फ्लाइंग ऑफिसर के तौर पर उनका चयन वर्ष 2016 के 18 जून को हुआ था। भावना की प्रारंभिक शिक्षा बरौनी रिफाइनरी स्थित DAV स्कूल और राजस्थान के कोटा स्थित सीनियर सेकेंडरी की शिक्षा विद्या मंदिर से हुई।


इस बार राजपथ पर नहीं दिखेगी मध्य प्रदेश की झांकी, तीन साल में ऐसा पहली बार
दिल्ली के राजपथ पर होने वाली परेड में इस बार मध्य प्रदेश की झांकी नहीं दिखेगी। तीन साल में ऐसा पहली बार है जब गणतंत्र दिवस पर प्रदेश की झांकी परेड में शामिल नही हो पाएगी। दरअसल, ये झांकियां विशेष थीम पर बनाई जाती हैं। इसका निर्माण कार्य देखने वाले MP माध्यम के महा प्रबंधक हेमंत वायंगणकर ने बताया कि इस बार आत्मनिर्भर एमपी की झांकी बनाने का प्रस्ताव केंद्र को भेजा था, लेकिन कोई जबाव नहीं आया।


CM ने दी गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं, शेयर की कविता
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी हैं।
राष्ट्र की उन्नति हो, अंत्योदय की प्रगति हो। हर मुख मुस्काये, हर घर में अपार समृद्धि हो। युवा बढ़े और बेटियों की भी खूब तरक्की हो, हर नागरिक का जीवन उजला, सारगर्भित हो। आओ, मिलकर देश बढ़ायें, ऐसे प्रयासों में श्रीवृद्धि हो, जुट जायें ऐसे कि अपनी मिट्टी का कण-कण फिर सोना हो।

Post a Comment

0 Comments