Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

Interesting things जानें उन जीवों के बारे में जो बीमारियों से बचने के लिए शारीरिक दूरी का करते हैं पालन

 Interesting things

 दिनों इंसान कोविड-19 महामारी के खिलाफ जंग लड़ रहा है। ऐसे समय में जानवरों से सीखने के लिए भी बहुत कुछ है। आइए जानते हैं, ऐसे जीवों के बारे में जो बीमारियों से बचने के लिए शारीरिक दूरी व सेल्फ आइसोलेशन का पालन करते हैं।


गप्पी

गप्पी को मिलियन फिश या रैंबो फिश भी कहा जाता है। ये अपने ग्रुप में किसी सदस्य के संक्रमित होने पर उससे दूरी बना लेती है। स्वस्थ रैंबो फिश, बीमार फिश से डिस्टेंस बना कर रखती हैं।


घरेलू चुहिया

घरेलू चुहिया ये पता लगाने में सक्षम है कि उनका साथी चूहा किसी बीमारी से संक्रमित हैं। घरेलू चुहिया, चूहे के पेशाब से संक्रमित गंध को सूंघ लेती हैं और फिर किसी स्वस्थ चूहे के पास चली जाती हैं।


मधुमक्खियां

चिम्पांजी की तरह, मधुमक्खियां भी बीमार होने पर क्रूर हो सकती हैं। संक्रमित मधुमक्खी से एक खास तरह की गंध निकलती है। इस गंध को महसूस करने पर स्वस्थ मधुमक्खियां, संक्रमित हुई मधुमक्खियों को छत्ते से बाहर निकाल देती हैं।


गार्डन एंट

गार्डन एंट का व्यवहार बहुत ही अनोखा हैं। इनमें अगर किसी एक को फंगल इंफेक्शन हो जाए तो वो तुरंत खुद को बाकियों से अलग-थलग कर लेती है। गार्डन एंट स्वस्थ रहने में मदद करने के लिए अपनी कॉलोनी के सबसे महत्वपूर्ण सदस्यों की रक्षा भी करती हैं।


अमेरिकन बुलफ्रॉग टैंडपोल

अमेरिकन बुलफ्रॉग टेडपोल अन्य टैडपोल में एक घातक यीस्ट इंफेक्शन का पता लगाने में सक्षम है। साथ ही इंफेक्शन से बचने के लिए वो बीमार टेंडपोल से भी दूरी बना कर रखते हैं। स्वस्थ टेंडपोल संकेतों से दूसरों को मरने वाले टैडपोल की मौत की वजह को समझने के लिए जागरूक भी करते हैं। वे बीमार टेडपोल से खुद को आइसोलेट कर लेते हैं।


चिम्पांजी

चिम्पांजी ज्यादातर समूहों में देखे जाते हैं, लेकिन अगर उनमें से कोई एक बीमार हो जाता है, तो बाकी सभी इंफेक्शन से बचने के लिए उससे दूरी बना लेते हैं। इतना ही नहीं, बीमार चिम्पांजी भी खुद को बाकियों से दूर रखता है। वे संक्रमण से बचाव के लिए क्रूर व्यवहार करते हैं।

Post a Comment

0 Comments